Explore

Search
Close this search box.

Search

July 23, 2024 5:27 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

हनुमान जी सद्गुणों का भण्डार हैें

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

हाथरस-10 जुलाई। मुरसान के गॉव नगला प्रेमा में श्री गंगेश्वर महादेव मंदिर पर श्री हनुमान कथा का समापन ब्लाक प्रमुख रामेश्वर उपाध्याय ने व्यास गद्दी की पूजा अर्चना कर व आरती उतारकर किया। इस अवसर पर भागवत कथा के आयोजकों ने रामेश्वर उपाध्याय का फूल माला पहनाकर, पीतांबर उढाकर व राधा कृष्ण की प्रतिमा भेंटकर स्वागत व सम्मान किया।
रामेश्वर उपाध्याय ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के सर्वोत्तम सेवक, सखा और भक्त श्री हनुमान सद्गुणों के भंडार हैं। इनकी पूजा पूरे भारत और दुनिया के अनेक देशों में की जाती है। श्री हनुमान के परम पराक्रमी सेवा मूर्ति स्वरूप से तो सभी परिचित हैं लेकिन वह ज्ञानियों में भी अग्रगण्य हैं। वह अतुलित बल के स्वामी हैं। उनके अंग वज्र के समान कठोर एवं शक्तिशाली हैं। उन्हें ‘वज्रांग’ नाम दिया गया जो आम बोलचाल में ‘बजरंग’ बन गया। बजरंग बली केवल गदाधारी महाबलि ही नहीं बल्कि विलक्षण और बहुआयामी मानसिक और प्रखर बौद्धिक गुणों के अद्भुत धनी भी हैं। राम काज अर्थात अच्छे कार्य के लिए वह सदैव तत्पर रहते थे। वह राम सेवा अर्थात सात्विक सेवा के शिखर पुरुष ही नहीं थे बल्कि अनंत आयामी व्यक्तित्व विकास का महाआकाश है।
इस अवसर पर जितेंद्र शर्मा, राजीव शर्मा, लवकुश शर्मा, सुभाष शर्मा, पंकज शर्मा, रामप्रकाश शर्मा, मुकेश शर्मा, कालीचरन शर्मा, चिरंजीलाल शर्मा, सुरेश शर्मा, रमेश चंद्र शर्मा, दीपक शर्मा, रामखिलाड़ी शर्मा, वीरेंद्र शर्मा, जगदीश शर्मा, दाऊदयाल शर्मा, श्याम शर्मा, अशोक पचैरी, रामचरन शर्मा, रामबाबू शर्मा, बंटी शर्मा, जयराम शर्मा, गोपाल शर्मा व भगवती प्रसाद आदि थे।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर