Explore

Search
Close this search box.

Search

July 15, 2024 10:06 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

भाजपा कार्यालय व बूथों पर डा. मुखर्जी को दी गई श्रद्धांजलि

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

हाथरस-25 जून। भाजपा जिला कार्यालय एवं जनपद के समस्त 15 मंडलों के सभी बूथों पर पर जनसंघ संस्थापक डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर उनके छविचित्र पर माल्यार्पण कर बलिदान दिवस के रूप में मनाया गया।
इस अवसर पर भाजपा जिलाध्यक्ष शरद माहेश्वरी ने बताया कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी सच्चे अर्थों में मानवता के उपासक और सिद्धान्तवादी थे। डॉ. मुखर्जी इस धारणा के प्रबल समर्थक थे कि सांस्कृतिक दृष्टि से हम सब एक हैं। इसलिए धर्म के आधार पर वे विभाजन के कट्टर विरोधी थे। ब्रिटिश सरकार की भारत विभाजन की गुप्त योजना और षड्यन्त्र को कांग्रेस के नेताओं ने अखण्ड भारत सम्बन्धी अपने वादों को ताक पर रखकर स्वीकार कर लिया। उस समय डॉ. मुखर्जी ने बंगाल और पंजाब के विभाजन की माँग उठाकर प्रस्तावित पाकिस्तान का विभाजन कराया और आधा बंगाल और आधा पंजाब खण्डित भारत के लिए बचा लिया।
उन्होंने कहा कि डॉ. मुखर्जी जम्मू कश्मीर को भारत का पूर्ण और अभिन्न अंग बनाना चाहते थे। उस समय जम्मू कश्मीर का अलग झण्डा और अलग संविधान था। वहाँ का मुख्यमन्त्री (वजीरे-आजम) अर्थात प्रधानमन्त्री कहलाता था। संसद में अपने भाषण में डॉ. मुखर्जी ने धारा-370 को समाप्त करने की भी जोरदार वकालत की। अगस्त 1952 में जम्मू की विशाल रैली में उन्होंने अपना संकल्प व्यक्त किया था कि या तो मैं आपको भारतीय संविधान प्राप्त कराऊँगा या फिर इस उद्देश्य की पूर्ति के लिये अपना जीवन बलिदान कर दूँगा। उन्होंने नारा दिया कि एक देश में दो प्रधान दो विधान दो निशान नहीं चलेंगे। उन्होंने तत्कालीन नेहरू सरकार को चुनौती दी तथा अपने दृढ़ निश्चय पर अटल रहे। अपने संकल्प को पूरा करने के लिये वे 1953 में बिना परमिट लिये जम्मू कश्मीर की यात्रा पर निकल पड़े। वहाँ पहुँचते ही उन्हें गिरफ्तार कर नजरबन्द कर लिया गया। 23 जून 1953 को रहस्यमय परिस्थितियों में उनकी मृत्यु हो गयी।
इस अवसर पर सदर विधायक अंजुला सिंह माहौर, हरीशंकर राना, रुपेश उपाध्याय, अविनाश तिवारी, रामवीर भैयाजी, सतेन्द्र सिंह, नीरेश सिंह, रामकुमार माहेश्वरी, डमवेश चक, डा. आरसी गोला आदि भाजपा कार्यकर्ताओं ने विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर