Explore

Search
Close this search box.

Search

July 22, 2024 10:28 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

दो भाइयों के आत्महत्या प्रकरण में मानव अधिकार आयोग ने डीजीपी से मांगी रिपोर्ट

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email


हाथरस-28 जून। राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग ने उत्तर प्रदेश के हाथरस जनपद के सादाबाद पुलिस थाने में कथित पुलिस अत्याचार के कारण दो भाइयों की आत्महत्या के समाचार का स्वतः संज्ञान लिया है और इस पूरे प्रकरण की रिपोर्ट एडीएचआर के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वाष्र्णेय द्वारा रविवार को एनएचआरसी को मेल की दी थी। आयोग ने उ. प्र. के डीजीपी से एक सप्ताह के भीतर रिपोर्ट मांगी है।
रिपोर्ट के अनुसार उत्तर प्रदेश के हाथरस के सादाबाद थाने के पुलिसकर्मियों द्वारा कथित तौर पर प्रताड़ित किए जाने के कारण आगरा के दो भाइयों ने तीन दिनों के भीतर आत्महत्या कर ली। कथित तौर पर इस संबंध में एक भाई ने सुसाइड नोट छोड़ा है।
आयोग ने पाया है कि मीडिया रिपोर्ट की सामग्री, यदि सत्य है तो यह मानव अधिकार उल्लंघन का गंभीर मुद्दा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, पुलिसकर्मियों द्वारा दोनों पीड़ितों के साथ अमानवीय और क्रूरतापूर्ण व्यवहार किया गया, जिसके कारण उन्होंने आत्महत्या कर ली। पुलिस से लोगों को किसी भी अत्याचार से बचाने की अपेक्षा की जाती है, लेकिन इस मामले में ऐसा प्रतीत होता है कि वे ही अपराधी बन गए, जो चिंता का विषय है।
इसलिए आयोग ने उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी कर एक सप्ताह के भीतर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट में मामले में दर्ज एफआईआर की स्थिति, दोषी अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्यवाही और मृतक के निकटतम सबंधी को दी गई राहत की स्थिति का विवरण भी शामिल होना चाहिए।
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पुलिस ने छोटे भाई किसान संजय को यह आरोप लगाते हुए दो दिन तक हिरासत में रखा कि उसका साला एक लड़की के साथ भाग गया है तथा रुपयों की डिमांड कर रिश्वत लेने के बाद ही उसे छोड़ा। दो दिन बाद उसके बड़े भाई होमगार्ड प्रमोद और भतीजे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और उन्हें छोड़ने के लिए रिश्वत मांगी। बड़े भाई द्वारा कथित तौर पर एसओ के खिलाफ कार्यवाही के लिए मामले को एसओ के संज्ञान में भी लाया गया था।
एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक हृयूमन राइट्स के राष्ट्रीय महासचिव प्रवीन वाष्र्णेय ने पूरे प्रकरण की रिपोर्ट बनाकर रविवार को ही राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग को मेल से प्रेषित कर दी थी।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर