Explore

Search
Close this search box.

Search

July 15, 2024 10:36 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

आचार्य वसुनंदी जी महाराज ने पहली बार कराया विशाल लघु पंचकल्याणक

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन ने किया ध्वजारोहण


हाथरस-10 जुलाई। शहर के नयागंज स्थित 108 भगवान नेमिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में हाथरस के इतिहास में प्रथम बार आचार्य श्री 108 वसुनंदी जी महाराज द्वारा अपने आठ पीछी संघ के साथ जिनबिंब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव कराकर हाथरस जैन समाज को धन्य कर दिया है।
मकराना व वाडरोल के पंच कल्याणक महोत्सव से प्रतिष्ठित होकर आयीं पाँच प्रतिमाओं को कान में सूर्य मंत्र दिया। लघु पंच कल्याणक में हाथरस के अलावा आगरा, फिरोजाबाद के भी जैन समाज के लोग बड़ी संख्या में शामिल हुए। करीब 5 घन्टे चले लघु पंचकल्याणक में भगवान आदिनाथ के जन्म से लेकर घर त्यागने बाद जब बाल स्वरूप में कपड़े उतार कर दीक्षा के वन की और प्रस्थान करते हैं, तब माँ की आंखों के आंसू नहीं रुकते है। पहली बार महिलाओं ने भी भगवान की प्रतिमा का अभिषेक व श्रृंगार कपड़े पहनाये। अभी तक मंदिरों में महिलायें पूजन करती है। पुरुष वर्ग लोग ही भगवान की प्रतिमाओं का अभिषेक करते है। लेकिन पंच कल्याणक के समय इंद्र इंद्राणी को पूजन अभिषेक करने का शौभाग्य प्राप्त होता है। इंद्र इंद्राणी के अलावा अन्य पात्रो का चयन बोली के द्वारा किया गया।
कार्यक्रम का शुभारंभ आचार्य श्री वसुनंदी जी महाराज ने श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन से ध्वजारोहण और पूजा अर्चना कराकर किया। सौधर्भ इंद्र की बोली सुधीर जैन ज्वेलर्स व उनकी पत्नी सुनीता जैन ने लेकर शुचि इंद्राणी की भूमिका निभायी। कुबेर की बोली दिल्ली के राहुल जैन, यज्ञ नायक की बोली कमलेश जैन व ऊषा जैन, भगवान के माता पिता टूंडला के मनोज जैन सुमन जैन, भरत चक्रवर्ती की बोली हरीश जैन, कामदेव की बोली आगरा के सुनील जैन, भगवान की बुआ बनने की बोली कल्पना जैन, सौभाग्यवती महिला की बोली शीलू जैन, अनुपमा जैन, प्रीति जैन लुहाडिया, पूनम जैन जबकि अष्टक कुमारी चिया जैन, श्रेया जैन, सृष्टि जैन, आरोही, ऋषिका, रानू, शानवी, नेहा, रिद्धि, सिद्धि, मानू बनीं। प्रथम अभिषेक की बोली आगरा के सुनील जैन व पालना झूलने की बोली राजकुमार जैन लोहिया की धर्मपत्नी द्वारा ली गई। भगवान को पिच्छी देने की बोली कीर्ति जैन, पंकज जैन, कमंडल देने की बोली शाहदरा दिल्ली के सुधीर जैन ली। टूंडला के विधान कर आशीष जैन भैयाजी द्वारा हुआ। विशाल जैन द्वारा पूजा, अर्चना संगीत के साथ कराई गई।
इस बीच लघु पंचकल्याणक महिला पुरुष भक्तों द्धारा भक्ति गीतों पर नृत्य कर उत्सव मनाते देखे गए। जैन समाज हाथरस के लिए अत्यंत सौभाग्य का विषय रहा कि नगर में आचार्य गुरुदेव श्री 108 वसुनंदी जी महाराज ससंघ के सानिध्य में प्रथम बार लघु जिनबिंब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव बहुत ही भक्ति भाव के साथ सानंद संपन्न हुआ। जिसमें मकराना से आयी हुई भगवान श्री आदिनाथ, श्री पाश्र्वनाथ एवं श्री महावीर भगवान की प्रतिमा जी के पांचों कल्याणक (गर्भ, जन्म, तप, ज्ञान एवम मोक्ष कल्याणक) गुरुदेव द्वारा उच्चारित मंत्रों के साथ संपन्न हुए।
इस मौके पर श्री जैन नवयुवक सभा अध्यक्ष उमाशंकर जैन, महामंत्री अमित जैन, कोषाध्यक्ष विवेक जैन, मंत्री मोनू जैन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कमलेश जैन लाल वाले, सुधीर जैन ज्वैलर्स, संजीव जैन भूरा, उपाध्यक्ष जितेंद्र जैन, गगन जैन टायर वाले, उप मंत्री कपिल जैन चूरन वाले, सौरभ जैन रानू, आय व्यय निरीक्षक संजीव जैन लुहाडिया, हलवाई खाना स्थित मंदिर प्रबंधक राकेश जैन, नयागंज जैन मंदिर अध्यक्ष संदीप जैन ज्वैलर्स, प्रबंधक अनिल जैन गुड्डू, नयावांस मंदिर अध्यक्ष मुकेश जैन, पंकज जैन मंत्री, अखिलेश जैन रंग, नितिन जैन, राजेश जैन, मुकेश जैन टाइप, निखिल जैन, राहुल जैन बैटरी, पुलकित जैन, संजीव जैन सूत वाले, नेमीचंद्र जैन, विजय जैन लुहाडिया, अनिल जैन लोहिया, राजकुमार जैन लोहिया, पंकज जैन अमीन, श्वेतांक जैन, संजय जैन, धर्मेंद्र जैन, बाल पंडित विशाल जैन, रतन जैन, बबलू जैन, अतुल जैन बसुंधरा, शेलेन्द्र जैन, संजीव जैन अमीन, अंकित, गिरीश जैन आदि मौजूद थे।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर