Explore

Search
Close this search box.

Search

June 17, 2024 12:50 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

कुंवर विमल साहित्य मंच के तत्वावधान आयोजित हुई काव्य गोष्ठी

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

 

सिकंदराराऊ – बसंत पंचमी के पावन पर्व पर एक काव्य गोष्ठी कुंवर विमल साहित्य मंच के तत्वावधान में आयोजित हुई ।
जिसकी अध्यक्षता सेवानिवृत सैनिक आर बी एस चौहान ने की । कार्यक्रम का शुभारंभ हिंदी प्रोत्साहन समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष देवेंद्र दीक्षित शूल ने मां सरस्वती के छवि चित्र के समक्ष दीप धूप प्रज्वलित कर किया। आयोजक व संचालक प्रमोद विषधर ने सभी कवियों का सम्मान किया । कवि उमेश अंगारक की सरस्वती वंदना के पश्चात प्रमोद विषधर ने पढ़ा –
“तेरे ही बस प्रेम की चर्चा करता यह संसार प्रिये।
तू कुर्सी महारानी तेरे आशिक कई हजार प्रिये।”
व्यंग्यकार देवेंद्र दीक्षित शूल ने पढ़ा- घूम-घाम कर देख ली क्या है दुनिया शूल।
अपनी संस्कृति छोड़कर प्राणी करता भूल ।
कवि राज बहादुर सिंह चौहान ने पढ़ा – बसंती व्यार जब चलती तो मनुआ मुनमुनाता है।
भले माने बुरा कोई बुढ़ापा सब पे आता है।
भद्रपाल सिंह चौहान ने अपना नदी व सागर पर लिखा लंबा व्यंग्य पढ़ा ।
वही डॉ सत्येंद्र भारद्वाज आभास ने राधा कृष्ण पर कविता पढ़ी।
श्री उमेश अंगारक के व्यंग्य भी खूब सराहे गए।
इस मौके पर हिमांशु दीक्षित एडवोकेट ,अजय यादव, कुलदीप पचौरी ,छोटे सुनार, वैष्णव शर्मा, श्रेयाश शर्मा सुनील यादव आदि मौजूद रहे।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर