Explore

Search
Close this search box.

Search

July 23, 2024 4:17 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

धूमधाम के साथ मनाया बसंत पंचमी का पर्व

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

सिकंदराराऊ- बुधवार को बसंत पंचमी का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया गया । देवालयों में भगवान के बसंती श्रृंगार किए गए। बसंत पंचमी के पर्व पर माँ शारदे की जगह जगह पूजा अर्चना की गई। बसंत का महीना आते ही सर्दियां जाने लगती है और यह कहावत सदियों से चली आ रही है।
उल्लेखनीय है कि बसंत पंचमी के दिन बसंत ऋतु का आगमन होता है, ऋतुराज बसंत का बड़ा महत्व है, कड़कड़ाती ठंड के बाद प्रकृति की छटा देखते ही बनती है। पलाश के लाल फूल, आम के पेड़ों पर आए बौर, हरियाली और गुलाबी ठंड मौसम को सुहाना बना देती है। यह ऋतु सेहत की दृष्टि से भी बहुत अच्छी मानी जाती है। मनुष्यों के साथ पशु-पक्षयिों में नई चेतना का संचार होता है। बसंत को प्रेम के देवता कामदेव का मित्र माना जाता है। इस ऋतु को काम बाण के लिए अनुकूल माना जाता है। वहीं हिंदू मान्यताओ के अनुसार इस दिन देवी सरस्वती का जन्म हुआ था इसलिए हिंदुओं की इस त्योहार में गहरी आस्था है। प्रकृति में सरसों आदि के पीले रंग के खिले फूल सुंदरता और सुगंध बिखेरते हैं। इस दिन को ऋतु परिवर्तन के रूप से भी विशेष महत्व है। इसके बाद सर्दी कम होना शुरू हो जाती है शरीर में बल की वृद्धि और रक्त का शुद्धिकरण होने लगता है। बुधवार को बसंत पंचमी के पर्व पर कस्बा के मन्दिरो में भगवान के बसंती श्रृंगार किए गए। भक्तो ने भगवान के भव्य श्रृंगार के दर्शन कर पुण्य लाभ कमाया । वही जगह जगह माँ सरस्वती की पीले पुष्पो के साथ पूजा अर्चना की गई। वही बसंत पंचमी के पर्व पर होलिका स्थानों पर होली भी रखी गई।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर