Explore

Search
Close this search box.

Search

June 21, 2024 6:43 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

वाहनों पर सड़क सुरक्षा सेस प्रस्तावित: जताया विरोध

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email


हाथरस-1 जून। संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री के नाम ज्ञापन एआरटीओ कार्यालय पर आरआई को सौंपकर व्यापारियों द्वारा वाहनों पर सड़क सुरक्षा सेस लगाने को लेकर उक्त सेस को अतिरिक्त कर का बोझ बताया है।
संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल द्वारा आज उत्तर प्रदेश सरकार के परिवहन मंत्री के नाम जनपद के एआरटीओ कार्यालय पर आर.आई को ज्ञापन सौंप कर कहा गया है कि वर्तमान में परिवहन विभाग द्वारा वाहनों पर सड़क सुरक्षा सेस लगाना प्रस्तावित है, जो कि वाहन स्वामियों पर अतिरिक्त कर का बोझ बड़ाने वाला है। जिसका संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल एवं ट्रांसपोर्ट एसोशियन घोर विरोध करती है। क्योंकि वाहनों से रोड टैक्स एवं टोल टैक्स के रूप में पहले ही दो प्रकार के टैक्स वसूले जाने के बाद तीसरा टैक्स सड़क सुरक्षा सेस लगाना बिलकुल ही वाहन स्वामियों के साथ घोर तालिबानी फरमान है। जिसको संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल बिलकुल भी सहन नही करेगा।
व्यापारियों द्वारा कहा गया है कि यदि सड़क सुरक्षा सेस लगाया गया तो संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल सड़कों पर उतर कर परिवहन विभाग के तालिबानी फरमान के खिलाफ आंदोलन को मजबूर होगा । जब वाहन स्वामी टोल टैक्स देते हैं तो उन पर रोड टैक्स क्यों लगाया जाता है। रोड टैक्स का क्या औचित्य है। जब परिवहन विभाग रोड टैक्स लेता है तो टोल टैक्स क्यों वसूला जाता है। एक ही चीज का दो बार टैक्स लिया जाता है। जो कि सरासर गलत है।
व्यापार मंडल द्वारा परिवहन मंत्री से मांग करते हुए कहा है कि या तो रोड टैक्स खत्म किया जाए या जिन वाहनों से रोड टैक्स लिया जाता है, उन वाहनों पर टोल टैक्स नहीं लगना चाहिए। जहां एक ओर वाहन स्वामी एक ही प्रकार के दो टैक्स दे रहा है। टोल टैक्स व रोड टैक्स उस पर सड़क सुरक्षा सेस थोपा जा रहा है ,जो कि सरासर गलत है। परिवहन विभाग द्वारा जो सड़क सुरक्षा सेस थोपा जा रहा है उसका संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल एवं ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन घोर विरोध प्रकट करती है तथा उत्तर प्रदेश सरकार से मांग करती है कि परिवहन विभाग की इस मंशा को कतई भी पूर्ण न किया जाए। क्योंकि पहले ही एक ही सुविधा के लिए टोल टैक्स व रोड टैक्स वाहन स्वामी देते हैं।उस पर यह सड़क सुरक्षा सेस लगाना कतई भी तर्कसंगत नहीं है।। संयुक्त उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार मंडल एवं ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन मांग करती है कि सड़क सुरक्षा सेस वाहन स्वामी पर ना थोप जाए। ज्ञापन एआरटीओ कार्यालय में नहीं मिलीं तो उनकी अनुपस्थिति में आर.आई. संतोष कुमार को ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन देने वालों में संयुक्त उद्योग व्यापार मंडल के संस्थापक राजीव वाष्र्णेय, संस्थापक कन्हैया वाष्र्णेय, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष बाल प्रकाश वाष्र्णेय, नगर महामंत्री मदन गोपाल वाष्र्णेय, नगर कोषाध्यक्ष राजेश बंसल, युवा नगर अध्यक्ष कृष्णा शर्मा पहलवान आदि शामिल थे।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर