Explore

Search
Close this search box.

Search

July 22, 2024 10:26 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

भव्य कलश शोभायात्रा के साथ श्रीमद्भागवत कथा यज्ञ ज्ञान शुरू

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email


सासनी-14 जून। श्री राम चैक मंदिर रुदायन मे भव्य कलश शोभायात्रा के साथ श्री मदभागवत कथा का शुभारंभ किया गया। कलश शोभायात्रा के दौरान महिलाओं ने अपने सिर पर कलश रखे हुए थे, तथा विशेष परिधानों में चल रही थी। जिससे माहौल श्रीमय हो रहा था।
रूदायन में आज निकाली गई कलश शोभायात्रा पूरे गांव में निकाली गई। जहां मार्ग में जगह-जगह कलश शोभायात्रा का पुष्पवर्षा कर जोशीला स्वागत किया गया। इससे पूर्व हवन यज्ञ में यज्ञाचार्य द्वारा बोले गये वेदमंत्रोच्चारण के साथ आहूतियां देकर विश्व कल्याण की कामना की गई। कलश शोभायात्रा के बाद परम पूज्य श्री मलूक पीठाधीश्वर श्री राजेन्द्र दास जी के कृपा पात्र श्री आनन्द दास (पुजारी) जी महाराज जी के मुखार विंद से कथा मे महात्मा का वर्णन सुनाया गया तीन प्रकार के तापों से मनुष्य घिरा हुआ है। कलियुग मे तीनों तापों की निवृत्ति के लिए सिर्फ और सिर्फ भगवन शरणागति हेतु श्रीमद् भागवत महापुराण की एकमात्र साधन है। जो हमें मोक्ष मार्ग तक पहुंचा सकती है। इस दौरान राजा परीक्षित के रूप मे रिसेंन्द्र शर्मा तथा रानी रूप मे श्रीमती मनु देवी, श्री रामचैक मंदिर महंत श्री केशव दास जी, रुपेश उपाध्याय, खगेन्द्र शास्त्री, शुभम उपाध्याय, अरविन्द, नमन मिश्रा, नमन उपाध्याय, मोहन, मनोज पण्डित सहित तमाम ग्रामीण भक्त मौजूद थे।
दूसरी ओर मडराक के गांव नोहटी में कलश यात्रा के साथ भागवत कथा का शुभारंभ ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के तहसील अध्यक्ष विमल महाजन ने श्रीमद्भागवत पूजन के बाद फीता काटकर किया। आचार्य ने कथा की महिमा क बारे में बताया। वहीं आचार्य कन्हैया शास्त्री महाराज जी ने बताया कि विश्व में सभी कथाओं में ये श्रेष्ठ मानी गई है। जिस स्थान पर इस कथा का आयोजन होता है, वो तीर्थ स्थल कहलाता है। उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागत कथा ही मोक्षदायनी है, इसलिए इसका सुनने एवं आयोजन कराने का सौभाग्य भी प्रभु भक्तों को ही मिलता है।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर