Explore

Search
Close this search box.

Search

July 22, 2024 10:15 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

धर्म से कर्म को मार्ग मिलता है और भजन को जन्म-श्रीनिवास

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email


हाथरस-19 जून। धर्म होगा तो कर्म को रास्ता मिलेगा। बिना धर्म के कर्म को दृढ़ता संभव नहीं है। क्योंकि प्राणी अकर्म तो कर सकता है, लेकिन कर्म के लिए धर्म का होना आवश्यक है। धर्म ही सेवा, सत्कार, समर्पण और सम्मान का पाठ पढ़ाता है। धर्म ही भजन के माध्यम से मोक्ष का प्रदाता हो सकता है। यह प्रवचन चंदपा क्षेत्र के गांव अर्जुन पुर में चल रही श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के दौरान वृंदावन धाम निवासी आचार्य श्रीनिवासदास जी महाराज ने उद्घोषित किये। उन्होंने जीवन में सेवा और भजन की विशेषताओं पर मार्मिक प्रकाश डाला। उन्होंने कहां धर्म हमको सेवा का मार्ग दिखाता है। सेवा से संत खुश होते हैं तो भजन का मार्ग प्रशस्त होता है और जब भजन प्रबल होता है तो प्रभु मिलन का मार्ग सुनिश्चित हो जाता है। इस अवसर पर व्यवस्था में मदनलाल शर्मा, हरीओम शर्मा वाहनपुर, किशनहरी शर्मा, कृष्णकांत, रामकृष्ण शर्मा,गणेश कुमार शर्मा, हरीओम शर्मा, रमेशचन्द्र शर्मा आदि का सहयोग सराहनीय था।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर