Explore

Search
Close this search box.

Search

June 16, 2024 11:49 pm

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

चराचर जीवजगत के उन्नयन, संस्कृति की रक्षा की जो बात करे वही पत्रकार-कुलपति

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

इगलास-30 मई। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के हरपाल नगर स्थित इन्द्रपस्थ, सहज राजयोग प्रशिक्षण केन्द्र पर हिन्दी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर पत्रकार सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें आध्यात्मिक सशक्तिकरण द्वारा स्वस्थ एवं समृद्ध समाज विषय पर चिंतन किया गया। जिसमें इगलास के अलावा, हाथरस एवं अलीगढ़ के पत्रकारों ने भी सहभागिता की।
सम्मेलन में आमंत्रित अतिथियों जिसमें मंगलायतन विश्वविद्यालय के कुलपति पी.के. दशोरा, ब्रह्माकुमारीज के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी बीके सुशान्त, हाथरस की सहज राजयोग शिक्षिका एवं आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र प्रभारी बीके शान्ता बहिन तथा इगलास पत्रकार संघ के अध्यक्ष शिव ओम शर्मा का स्वागत पुष्प एवं बैज के द्वारा किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया।
इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में अपने सम्बोधन में ब्रह्माकुमारीज के राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी बी.के. सुशान्त भाई ने कहा कि आरम्भ में पत्रकारिता एक मिशन था बाद में इसका व्यवसायीकरण हो गया। व्यवसायीकरण होने से प्रतिस्पर्धा बढ़ी जिसके कारण मानवीय मूल्यों होना आरम्भ हुआ। इस प्रकार की स्थितियों में मीडियाकर्मी यदि दया, करूणा, प्रेम आदि मानवीय मूल्यों को साथ रखने के जुनून के साथ काम करेंगे तो नैतिक उन्नति के साथ भौतिक उन्नति को कोई रोक नहीं सकता। इस अवसर पर उन्होंने हिन्दी पत्रकारिता के जनक पंडित जुगल किशोर सुकुल का भी स्मरण किया।
मंगलायतन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर पी.के. दशोरा ने आदि पत्रकार नारद जी का उदाहरण देते हुए कहा कि पत्रकारों को नारद की तरह त्रिआयामी सूत्र पालन अवश्य कराना चाहिए जिसमें उन्हें कहीं भी आने जाने की छूट हो, कहीं कुछ भी गोपनीय नहीं है। दूसरा सत्य को आधा अधूरा नहीं सम्पूर्णता से बताने की ताकत और तीसरा सभी तक सूचना का सम्प्रेशण होना। आदर्श पत्रकार जीवजगत के उन्नयन की बात करते हैं। यह प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय सिखाता है। इससे पत्रकारों को प्रेरणा लेनी चाहिए। यहाँ किसी एक की नहीं सभी के आत्मिक उत्थान की चर्चा होती है। सर्वे भवन्तु सुखिनः यहाँ का मूलमंत्र है, यही आध्यात्मिक सशक्तिकरण का आधार है।
हाथरस की सहज राजयोग शिक्षिका एवं आनन्दपुरी कालोनी केन्द्र प्रभारी बी.के. शान्ता बहिन ने संस्था का संक्षिप्त परिचय देते हुए पाँचों महाद्वीपों में आध्यात्मिक एवं सामाजिक सेवाओं की जानकारी दी। उन्होंने सभी को दो मिनट का राजयोग के अभ्यास के साथ जीवनमूल्यों को सभी के साथ व्यवहार में लाने की प्रेक्टिकल अभ्यास भी कराया। हरपाल नगर की ब्रह्माकुमारीज केन्द्र प्रभारी बी.के. हेमलता दीदी ने सभी पत्रकार बन्धुओं का आभार व्यक्त किया।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर