Explore

Search
Close this search box.

Search

June 21, 2024 9:02 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

श्रीकृष्ण वाललीला सुन मंत्रमुग्ध हुए श्रोता

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

आगरा अलीगढ राजमार्ग स्थित श्री राधे-राधे गार्डन में में चल रहे श्रीमद्भागवत कथा ज्ञान महायज्ञ में विश्व विख्यात भागवताचार्य अतुल कृष्ण शास्त्री महाराज ने संगीत स्वरलहरियों के मध्य अपनी मधुरवाणी से भगवान श्रीकृष्ण वाललीला एवं गोवर्धन की कथा का रोचक वर्णन किया।
सोमवार की कथा में भागवताचार्य ने बताया कि निराकार ब्रह्म ने धर्म की रक्षा के लिए कृष्ण अवतार धारण करके प्रेम का व बाल लीला करके संसार को संदेश दिया कि भगवान अजन्मा है और मानव की भांति मां के गर्व से जन्म नही लेता, बल्कि मां के ह्रदय में आकर निज इच्छा से ईश्वर चिन्मय शरीर धारण करता है। आचार्य ने बताया कि भगवान श्री कृष्ण ने जन्म लेकर पूरे जीवन में सुख नहीं पाया, उन्होंने सभी को सुख देने की कोशिश की। बालपन में पूतनावध, के साथ तमाम राक्षसों का वध किया। उधर एक दिन पानी में जब चंद्रमा की छाया देखी तो मां से जिद पर अड गये कि उन्हें चंद्र खिलौना ही चाहिए। खेलते-खेलते मिट्टी खाना और मुंह में मां यशोदा को ब्रह्मांड के दर्शन कराकर सबकुछ भुला देना जैसी वाल लीलाओं का वर्णन किया। गोवर्धन लीला का भी बडा रोचक वर्णन करते हुए बताया कि जब इंद्र के कोप से बचाने के लिए भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन को अपनी उंगली पर उठा लिया तो इंद्र को हार स्वीकार करनी पडी और गोवर्धन पूजा शुरू हो गई। कथा में वासुदेव जी भगवान वाल कृष्ण की झांकी निकाली गई और भक्तों को माखन मिश्री का प्रसाद वितरण किया गया। कथा का भावार्थ सुनाते हुए कहा कि मनुष्य को अपने मन को स्थिर कर प्रभु नाम की शरण लेनी चाहिए। तभी उसे सुख की प्राप्ति संभव है। मनुष्य को नित्य भगवान की शरण में रहना चाहिए। अच्छे विचार और अच्छे कार्य करने से शुभ परिणामों की प्राप्ति होती है। श्रीमद् भागवत कथा में श्रोताओं की भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान यज्ञाचार्य राजकृष्ण महाराज तथा राजा परीक्षित बने कृष्णकांत (कन्नू) वाष्र्णेय एवं उनकी पत्नी करिश्मा के साथ कल्यान दास, प्रमोद कुमार, भगवान दास वाष्र्णेय, शैलेश वाष्र्णेय, सचिन ललित, उषा वाष्र्णेय, सुनीता, वंशिका, कोमल, हिमांशु, प्रिंस, कृष्णा तिवारी, राजुल मौजूद थे। प्रमोद कुमार वाष्र्णेय, भगवानदास वाष्र्णेय, शैलेश वाष्र्णेय, सचिन वाष्र्णेय, ललित वाष्र्णेय, एवं समस्त वाष्र्णेय, परिवार तथा श्रोता भक्त मौजूद थे।

sunil sharma
Author: sunil sharma

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर