Explore

Search
Close this search box.

Search

June 21, 2024 10:58 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

बीएनसीफ ने किया नवसंवत्सर का जोशीला स्वागत

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

चैत्र मास की प्रतिपदा के साथ ही हिन्दू नववर्ष अर्थात नवसंवत्सर का प्रथम दिन माना जाता है। इस दिन ब्रह्मा जी ने संपूर्ण सृष्टि का सृजन किया था और पांडवों का राज्याभिषेक भी हुआ था। विक्रम संवत का नामकरण भी इसी महीने में हुआ था। चैत्र नवरात्र का आरंभ भी इस महीने में होता है, जो नौ दिनों तक चलता है और नौ देवियों की पूजा किया जाता है।
मंगलवार को यह बिचार भारतीय न्याय चक्र फाउण्डेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु मिश्रा ने गांव मीतई में संस्था की महासचिव श्रीमती कुमकुम चैहान के आवास पर संस्था के पदाधिकारियों और सदस्यों द्वारा नवसंवत्सर 2081(हिंदू नववर्ष) का स्वागत करते हुए प्रकट किए। उन्होंने कहा कि चैत्र मास, हिन्दू पंचांग के अनुसार, एक बहुत ही महत्वपूर्ण माह है। इस माह की प्रतिपदा से हिंदू नववर्ष की शुरुआत हो रही है, जिसे विक्रम संवत 2081 के नाम से भी जान रहे हैं। वहीं प्रदेश सलाहकार सुनील शर्मा ने कहा कि चैत्र मास का महीना न केवल महत्वपूर्ण पर्वों का समय होता है, बल्कि प्रकृति के लिए भी यह एक विशेष समय होता है। प्रकृति अपने पूर्ण यौवन पर होती है, और हर तरफ हरियाली फैली होती है। प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद ने कहा कि यह मास धर्मिक और सामाजिक महत्व के साथ-साथ प्राकृतिक सौंदर्य की भरपूर भेंट भी देता है। जिला प्रभारी श्रीमती चंद्रकांता ने कहा कि चैत्र मास की प्रतिपदा के साथ ही हिन्दू नववर्ष का शुभारंभ होता है। इस दिन ब्रह्मा जी ने संपूर्ण सृष्टि का सृजन किया था। तथा विक्रम संवत का नामकरण भी इसी महीने में हुआ था। चैत्र नवरात्र का आरंभ भी इस महीने में होता है, जो नौ दिनों तक चलता है और नौ देवियों की पूजा किया जाता है। कार्रक्रम में प्रदेश अध्यक्ष (महिला प्रकोष्ठ) श्रीमती प्रेमलता, हाथरस जिला अध्यक्ष अंजली भारती, हाथरस जिला प्रभारी चंद्रकांता, अलीगढ़ जिला अध्यक्ष सौरव शर्मा, हाथरस जिला उपाध्यक्ष संतोष कुमार, दानवीर सिंह आर्य आदि तमाम पदाधिकारी और कार्रकर्ता मौजूद थे।

sunil sharma
Author: sunil sharma

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर