Explore

Search
Close this search box.

Search

June 20, 2024 4:47 am

Our Social Media:

लेटेस्ट न्यूज़

सोशल मीडिया युग में हिंदी की दिशा और दशा पर आयोजित हुई गोष्ठी

WhatsApp
Facebook
Twitter
Email

सिकंदराराऊ – सोशल मीडिया युग में हिंदी की दिशा और दशा दोनों में ही काफी परिवर्तन हुआ है । जहां हिंदी का प्रचार – प्रसार बढ़ा है । वहीं हिंदी की शब्दावली कुछ विकृत हुई है । उक्त विचार उ प्र भाषा संस्थान लखनऊ द्वारा हिंदी प्रोत्साहन समिति के तत्वाधान में तहसील स्थित अधिवक्ता कक्षा में आयोजित सोशल मीडिया के युग में हिंदी की दिशा और दशा विषयक संगोष्ठी में विद्वानों द्वारा व्यक्त किए गए । कार्यक्रम की अध्यक्षता समाज सेवी जयपाल सिंह चौहान ने की और संचालन समिति के अध्यक्ष देवेंद्र दीक्षित शूल ने किया। गोष्ठी में विशिष्ट अतिथि के रूप में एडवोकेट महेंद्र सिंह यादव एवं महेंद्र पाल सिंह जादौंन पूर्व प्रधान रहे । कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के छवि चित्र पर माल्यार्पण और दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया ।
आगरा से पधारे डाॅ ग्या प्रसाद मौर्य रजत ने कहा कि हिंदी का निखरता हुआ रूप जो हम देख रहे हैं उसमें सोशल मीडिया एक बड़ी भूमिका निभा रहा है। आज हिंदी विश्व पटल पर अपनी छाप छोड़ रही है। वहीं वात्सल्य ग्राम वृंदावन से पधारे डॉ उमाशंकर रही ने कहा कि सोशल मीडिया ने हिंदी को गति दी है । आज सोशल मीडिया के कारण ही हिंदी पूरे विश्व में अपना परचम फहरा रही है। फर्रुखाबाद से पधारे पवन बाथम ने कहा कि आज विश्व बाजार में हिंदी अपना विशिष्ट स्थान रखती है । विदेश और अहिंदी क्षेत्रों में प्रधानमंत्री मोदी हिंदी में अपनी बात रखते हैं । इससे हिंदी का मान सम्मान और भी बढ़ा है। बिल्सी से पधारे नरेंद्र गरल ने कहा कि आज सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप ,यूट्यूब, टेलीग्राम के माध्यम से हिंदी का प्रचार प्रसार हो रहा है । लेकिन प्रशासनिक स्तर पर हिंदी अपने प्रयोग की प्रतीक्षा कर रही है ।
हाथरस के अनिल बौहरै ने कहा कि हमारी हिंदी आज सभी भाषाओं की अपेक्षा आगे है । वह माथे की बिंदी बन गई है। वहीं हिंदी प्रोत्साहन समिति के अध्यक्ष देवेंद्र दीक्षित शूल ने कहा कि सोशल मीडिया से हिंदी का प्रचार प्रसार तो बढ़ा है । किंतु शब्दों में कुछ विकृति भी आई है। हिंदी भाषी लोग भी अपनी बात अंग्रेजी में टाइप करते हैं । वह गलत है । उन्हें हिंदी में लिखने का प्रयास करना चाहिए। कार्यक्रम के संयोजक डॉ सौरभ कांत शर्मा ने सोशल मीडिया पर लिखते समय सावधानी रखने का सुझाव दिया । गोष्ठी में गौरी शंकर गुप्ता नोटरी, डाॅ शरीफ अली,ओम प्रकाश सिंह एड एवं डॉ सतेद्र भारद्वाज ने भी अपने विचार व्यक्त किए । इस अवसर पर बार एसोसिएशन के सचिव प्रमोद कुमार बघेल, अशोक शर्मा एड,हुकम सिंह बघेल एड, मुरारी लाल शर्मा एड,शिव कुमार सक्सेना एड, हरपाल सिंह यादव, अरुण दीक्षित एड, कल्लू सिंह कुशवाह एड, राधेश्याम यादव एड, अरविंद भारद्वाज, बृजेश पाठक नोटरी, कुलदीप पचौरी ,राम खिलाड़ी यादव ,रामबिरेश यादव, के एल जैन एड ,भगवान सिंह एड, हरिप्रसाद बघेल ,अजय यादव, जगवीर सिंह पूर्व प्रधान, श्रीनिवास मुनीम आदि मौजूद रहे ।

dainiklalsa
Author: dainiklalsa

Leave a Comment

Advertisement
लाइव क्रिकेट स्कोर